मेरी नवीन अनुभूतियों से उपजे मेरे गीत की कुछ पंक्तियाँ…. ..जब मैं इस दुनियां से, चला जाऊँगा..सच कहता हूँ,मैं याद बहुत आऊंगा !! जाने वालों को भला,किसने है रोका अबतक..मौत की आस में,खाया है धोखा अबतक !! कौन जाने कि मेरी,आखिरी कशिश क्या है..नहीं मालूम मुझको,मेरी परवरिश क्या है !! लोग कहते हैं,तू तो सभी का प्यारा है..हकीकत […]

Read more
हक़ीकत है नहीं, कुछ भी…

जीवित होना मात्र, लक्ष्य नहीं मेरा…कुछ भले जज़बात,भी तो चाहिए… हजारों बंदिशों में,जी रहा हूँ मैं अभी…मर जाने के हालात,यूँ न लाईये… ज़माना है,मेरा दुश्मन…कि दुश्मन मैं,जमाने का… कोई बतला दे,मुझको अंत…इस अनचाहे,फ़साने का… कोशिश है मेरी,अपना लें…मुझको सब,मेरे अपने… हक़ीकत है नहीं,कुछ भी… पराये हो गए,…….सपने !!!

Read more
मन की कालिख…..

आज अकेले दिया जलाकर,घर में उजाला कर बैठे !मन की कालिख साफ़ नहीं की,तन उजियारा कर बैठे !! आज अकेले दिया जलाकर,घर में उजाला कर बैठे !मन की कालिख साफ़ नहीं की,तन उजियारा कर बैठे !! सुबह-शाम  प्रभु नाम की माला,मस्तक तिलक लगाना यूँ….मात-पिता की सुध बिसरा के,उनको यूँ ठुकराना क्यूँ ?? खुद की खातिर […]

Read more
काला धन काली सरकार , काली सब करतूत, न जाने कब क्या कर बैठे, कांग्रेस का भूत…..

आदरणीय मित्रों एवं स्नेहीजन …..                                    पिछले तीन महीनों से कुछ नहीं लिख पाया और न ही ज्यादा समय ब्लॉग पर दे पाया , इसके लिए करजोर क्षमा ! देश में उभरे हालात एवं स्थितियों को ब्यक्त करती एक […]

Read more
यकीं है ख़ुद को कि …

बहुत सोचा , बहुत समझा , मैं लेकिन सह नहीं पाया ! बिना देखे उसे , इक दिन , मगर मैं रह नहीं पाया !! दिखाए ख्वाब उसने , जश्ने – ज़न्नत के , मुझे लेकिन ! हक़ीकत मैं उन्हें फिर भी ,  कभी भी कर नहीं पाया !! पहेली बनके रह गयी है , […]

Read more
माँ बिन बालक …

मात – स्नेह – वंचन से आहत , मात – स्नेह की अविरल चाहत , पाले.. मन में नन्हां बालक , तड़प रहा जीवन में नाहक ! बिन माँ , बालक की जो दशा है , आखेटक की जाल में जैसे फंसा है , दिन – दिन रोता याद न जाती , मात – मिलन […]

Read more
ज़ालिम ये जिंदगी …

ज़ालिम ये जिंदगी , ग़मों का सैलाब लाती है ! ज़ालिम ये जिंदगी , ग़मों का सैलाब लाती है ! रुलाती है ज्यादा , और थोड़ा हंसाती है ! कहते हैं सभी , कि खुश रहो यारों , पर कौन बताये हमें , ये खुशी कहाँ से आती है ? बड़ी उम्मीद से , कदम […]

Read more
आस लगी है…

आस लगी है दिल में मेरे ,  प्रिय तुम वापस आओगे ! प्रीत मेरे तुम , मीत तेरा मैं , मुझको गले लगाओगे ! जब से मुझ से दूर गए तुम , एक पल चैन नहीं पाया ! रोया हूँ , मैं तड़पा  हूँ मैं , विरह ने खूब है तरसाया !  छोड़ दिया जग […]

Read more
ओसामा की मौत का आकर्षण …

                अब जब चारों ओर ओसामा और ओबामा के चर्चे चल ही रहे हैं तो आखिर मैं अपने आप को कब तक रोक पाता , अतः मैंने भी सोचा चलो कुछ तो लिख ही सकते हैं इन दो महानुभाओं के बारे में !              […]

Read more
Follow by Email
Facebook
Facebook
YouTube
YouTube
LinkedIn